[ Application Form ] मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन पात्रता व लाभ

Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022, Other benefits to be provided under Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022, Objectives of Mukhymantri Vatsalya Yojana 2022, Benefits and Features of Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022,

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना:-  कोरोना महामारी के कारण देशभर में बहुत नागरिको की मृत्यु हुई है। देश में बहुत बच्चे ऐसे है जिन्होंने कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता को खो दिया है। उतराखंड सरकार द्वारा मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना शुरू किया गया है इस योजना के माध्यम से सभी बच्चो को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना से संबंदित कुछ जानकारी प्रदान करने जा रहे है जैसे की मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना क्या है?, इसके लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया, महत्वपूर्ण दस्तावेज आदि। यदि आप मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना से सम्बंधित कुछ जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Contents

Latest updates Latest Update:-

उत्तराखंड के कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए बड़ी खुशखबरी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घोषणा की कि उन्हें सरकारों से मुफ्त टैबलेट मिलेंगे। यह निर्णय स्वतंत्रता दिवस पर की गई घोषणाओं का हिस्सा था।

कोविड-19 से माता-पिता को खोने वाले बच्चों की देखभाल के लिए वात्सल्य योजना
उत्तराखंड के लिए घोषणाएं करते हुए उन्होंने कहा, “बच्चे हमारा भविष्य हैं। हमने उन बच्चों की देखभाल के लिए वात्सल्य योजना शुरू की है, जिन्होंने अपने माता-पिता को कोरोना जैसी महामारी से खो दिया है, मुख्यमंत्री जी ने कहा, PTI के अनुसार।

उन्होंने कहा, “वात्सल्य योजना के तहत 21 साल की उम्र तक 3,000 हजार रुपये मासिक भत्ता मिलेगा। अब हमने कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए मुफ्त टैबलेट उपलब्ध कराने का फैसला किया है।”

अन्य निर्णय
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री जी ने यह भी कहा कि प्रदेश सरकार ने राज्य में भूमि कानूनों के बारे में आशंकाओं को दूर करने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित करने का निर्णय लिया है।

इसके अलावा, सरकार पर्यावरण और प्रकृति संरक्षण के क्षेत्र में विशिष्ट कार्य के लिए दिए जाने वाले सुंदरलाल बहुगुणा प्रकृति संरक्षण पुरस्कार की भी स्थापना कर रही है।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022, Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022

यह योजना उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के उन बच्चो के लिए शुरू किया गया है जिनके माता-पिता कोरोना महामारी के कारण मृत्यु हो गई है। इस योजना के माध्यम से राज्य के ऐसे सभी बच्चो को 30000 रूपये हर महीने दे दिया जाएगा। आपको बता दे कि यह आर्थिक भत्ता बच्चों को 21 वर्ष की आयु तक प्रदान की जाएगी। जिससे वह अपना जीवन अच्छे से गुजार सके और आत्मनिर्भर बन सके।

यह आर्थिक भत्ता सभी पात्र बच्चों के खाते में डायरेक्ट ट्रांसफर के माध्यम से भेजी जाएगी। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बच्चों का बैंक में खाता होना अनिवार्य है। मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के माध्यम से सरकार इन अनाथ बच्चो को शिक्षा का भी ध्यान रखेगी। सरकार द्वारा ऐसे बच्चो पर निगरानी रखेगी, जिससे कि बच्चे आर्थिक तंगी के कारण शिक्षा प्राप्त करने से वंचित ना रहे।यदि आपके आस पास / जान पहचान में कोई बच्चें हैं, जो की अपने माता पिता को इस महामारी के कारण खो दिया है, तो मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना का लाभ प्राप्त करनें में सरकार की मदद करें, एवं जल्द से जल्द आवेदन करवा लें।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना

Key Highlights Of Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022

योजना का नाम मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना
किसने आरंभ की उत्तराखंड सरकार
लाभार्थी उत्तराखंड के वे बच्चे जिन्होंने कोरोना  वायरस संक्रमण के कारण अपने माता पिता को खो दिया है।
उद्देश्य बच्चों को भरण पोषण के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइट जल्द लॉन्च की जाएग
साल 2022
आवेदन का प्रकार ONLINE/OFFLINE 
आर्थिक सहायता ₹3000
सरकारी नौकरी में कोटा 5%

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 के अंतर्गत प्रदान किए जाने वाले अन्य लाभ 

मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना के माध्यम से उत्तराखंड सरकार द्वारा उन सभी बच्चो को 3000 रूपये दे दिया जाएगा जिनके माता – पिता कि कोरोना महामारी के कारण मृत्यु हो गई है राज्य सरकार ऐसे सभी बच्चो को शिक्षा और रोजगार प्राप्त करने में मदद करेगी। सरकार द्वारा इन सभी बच्चो को रोजगार प्रदान करने के लिए सरकारी नोकरियो में 5 % का कोटा भी आरक्षण के रूप में रखा जाएगा। साथ में इन सभी बच्चो के प्रति सरकार द्वारा नियम बनाए जाएंगे। जिसके माध्यम से बच्चों की पैतृक संपत्ति को बेचने का अधिकार बच्चे की वयस्क हो जाने तक (21वर्ष की उम्र तक) किसी को भी नहीं होगा। उनके पैतृक संपत्ति के सुरक्षा की जिम्मेदारी जिले के जिला अधिकारी को दी जाएगी।

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 का उद्देश्य 

इस योजना  को प्रदेश के उन बच्चों के लिए आरंभ किया गया है जिनके माता पिता की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हो गई है। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य सभी बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जिससे कि वह अपना भरण-पोषण कर सकें। इस योजना के माध्यम से उत्तराखंड सरकार द्वारा ₹3000 की आर्थिक सहायता प्रतिमाह बच्चे की 21 वर्ष की आयु होने तक प्रदान की जाएगी। Mukhyamantri Vatsalya Yojana की वजह से अब प्रदेश के बच्चों को अपने भरण-पोषण के लिए दूसरों पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। वे आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेंगे

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना

Benefits and Features of Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022

  • इस योजना के माध्यम से उन सभी बच्चों की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिनकी कोरोना वायरस संक्रमण के कारण माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु हो गई हो।
  • मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बच्चे का बैंक में खाता होना अनिवार्य है।
  • इसके अलावा उत्तराखंड सरकार द्वारा ऐसे सभी बच्चों की शिक्षा एवं रोजगार प्राप्त करने में भी सहायता की जाएगी।
  • सरकार द्वारा ऐसे सभी बच्चों के लिए सरकारी नौकरी में 5% का कोटा भी रखा जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत बच्चे की पैतृक संपत्ति को बेचने का अधिकार बच्चे के वयस्क होने तक किसी को भी नहीं दिया जाएगा।
  • इस बात की जिम्मेदारी संबंधित जिले के जिला अधिकारी को दी जाएगी।
  • इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत बच्चों को रोजगार के लिए प्रशिक्षण प्रदान करने की व्यवस्था भी की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से प्रतिमाह ₹3000 की आर्थिक सहायता बच्चे की 21 वर्ष की आयु होने तक भरण-पोषण भत्ता के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • यह आर्थिक सहायता सभी पात्र बच्चों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजी जाएगी।

Eligibility for Mukhyamantri Vatsalya Yojana 2022

  • आवेदक उत्तराखंड का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • उम्मीदवार का बैंक में खाता होना अनिवार्य है।
  • आवेदक के माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई हो।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया 

यदि कोई व्यक्ति जो मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहता है है तोह उन्हें अभी कुछ समय तक इंतज़ार करना होगा। क्योकि उत्तराखंड सर्कार ने अभी केवल इस योजना की घोषणा किया है। जल्द ही इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया या आवेदन कैसे करे। आपको इस लेख के माध्यम से सूचित करेंगे। आपसे निवेदन है, कि नए अपडेट पाने के लिए हमारे से जुड़े रहे।

यह सब कुछ आज आपने इस लेख के जरिये जाना है। उम्मीद है यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। अगर आपको इस लेख में कुछ समझ नहीं आया हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है। हमारे इस लेख को अपने दोस्तों,रिश्तेदारों,इत्यादि तक शेयर करना न भूले। मैं KAVITA KHANWANI आपका तहे दिल से शुक्रिया करती हूँ| कि आपने हमारे लेख को पूरा पढ़ा । और आपने अपना कीमती समय इसे पढ़ने में लगाया। एक बार फिर से दिल से धन्यावद !

मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना

यह योजना उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के उन बच्चो के लिए शुरू किया गया है जिनके माता-पिता कोरोना महामारी के कारण मृत्यु हो गई है। इस योजना के माध्यम से राज्य के ऐसे सभी बच्चो को 30000 रूपये हर महीने दे दिया जाएगा। आपको बता दे कि यह आर्थिक भत्ता बच्चों को 21 वर्ष की आयु तक प्रदान की जाएगी। जिससे वह अपना जीवन अच्छे से गुजार सके और आत्मनिर्भर बन सके।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2022 के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज बताइये?

  • आधार कार्डबैंक खाता विवरणजन्म प्रमाण पत्रआय प्रमाण पत्रपासपोर्ट साइज फोटोग्राफमोबाइल नंबरमाता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्रराशन कार्ड
  • Mukhyamantri Vatsalya Yojana पात्रता बताईये?

  • आवेदक उत्तराखंड का मूल निवासी होना अनिवार्य है।उम्मीदवार का बैंक में खाता होना अनिवार्य है।आवेदक के माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई हो।
  • Mukhyamantri Vatsalya Yojana के लाभ बताईये?

  • इस योजना के माध्यम से उन सभी बच्चों की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिनकी कोरोना वायरस संक्रमण के कारण माता-पिता या अभिभावक की मृत्यु हो गई हो।मुख्यमंत्री वात्स्ल्य योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बच्चे का बैंक में खाता होना अनिवार्य है।इसके अलावा उत्तराखंड सरकार द्वारा ऐसे सभी बच्चों की शिक्षा एवं रोजगार प्राप्त करने में भी सहायता की जाएगी।सरकार द्वारा ऐसे सभी बच्चों के लिए सरकारी नौकरी में 5% का कोटा भी रखा जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत बच्चे की पैतृक संपत्ति को बेचने का अधिकार बच्चे के वयस्क होने तक किसी को भी नहीं दिया जाएगा।इस बात की जिम्मेदारी संबंधित जिले के जिला अधिकारी को दी जाएगी।इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत बच्चों को रोजगार के लिए प्रशिक्षण प्रदान करने की व्यवस्था भी की जाएगी।इस योजना के माध्यम से प्रतिमाह ₹3000 की आर्थिक सहायता बच्चे की 21 वर्ष की आयु होने तक भरण-पोषण भत्ता के रूप में प्रदान की जाएगी।यह आर्थिक सहायता सभी पात्र बच्चों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजी जाएगी।
  • मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना 2021 का उद्देश्य बताईये?

    इस योजना  को प्रदेश के उन बच्चों के लिए आरंभ किया गया है जिनके माता पिता की मृत्यु कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हो गई है। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य सभी बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है। जिससे कि वह अपना भरण-पोषण कर सकें। इस योजना के माध्यम से उत्तराखंड सरकार द्वारा ₹3000 की आर्थिक सहायता प्रतिमाह बच्चे की 21 वर्ष की आयु होने तक प्रदान की जाएगी। Mukhyamantri Vatsalya Yojana की वजह से अब प्रदेश के बच्चों को अपने भरण-पोषण के लिए दूसरों पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। वे आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेंगे